• +91 9250050227   +91 9250050228
  • info@parivartanayurveda.com

बवासीर (Parivartan Piles Tablet) के लिए

Parivartan Piles Tablet

Type : Ayurvedic Medicine Pack Qty : 120 Tab.

बवासीर या पाइल्स या (Hemorrhoid / पाइल्स या मूलव्याधि) एक ख़तरनाक बीमारी है। बवासीर 2 प्रकार की होती है। आम भाषा में इसको खूनी और बादी बवासीर के नाम से जाना जाता है। कहीं पर इसे महेशी के नाम से जाना जाता है।

Packages :

Rs.650 for 1 Month
Rs.1575 for 3 Month
Rs.3150 for 6 Month

About Medicine

Swollen and inflamed veins in the rectum and anus that cause discomfort and bleeding are known as Piles, our Parivartan Piles Tablet helps you cure the swelling and inflamed veins in the rectum, and giving you relief in the bleeding and discomfort.Jod Dard Tablet balance Vata System in our Body, Regulate the flow of Air in veins. Help to Produce the Liquid/oily Grease which required smooth functioning of joints. It also improves our immune system.

Packages :

Rs.650 for 1 Month
Rs.1575 for 3 Month
Rs.3150 for 6 Month
Free Consultation

+91 9250050227

बवासीर (piles) के लिए

यह दवाई आपके मल त्याग के वक्त (ब्लडिंग) रक्त स्राव होना या मलद्वार में दर्द होना दोनों ही कारणों को ठीक करने में मदद करती है तथा इंफेक्शन को बिल्कुल ठीक करके मस्सों को सुखने में मदद करती है उस कारण को जड़ से खत्म करने के लिए मदद करती है जिससे मस्से धीरे-धीरे आपके सूखने लग जाएंगे रक्त प्रसव होना बंद हो जाएगा, आप की आंतों में जमा शुष्क मल को साफ करेगी, कब्ज को बिल्कुल ठीक करेगी जिससे पेट ठीक से साफ होगा, और आपकी बवासीर को बिल्कुल जड़ से खत्म करके आपको बिल्कुल स्वस्थ करेगी,

बवासीर (Piles)?

बवासीर जिसे हम पाइल्स भी कहते हैं बवासीर मलद्वार के अंदर या आसपास के एरिया में सूजन आ जाती है, जब किसी व्यक्ति को लंबे समय तक कब्ज बना रहता है या कब्ज का इलाज नहीं किया जाता है तो ऐसे व्यक्ति को कब्ज होने के कारण मल त्याग के वक्त अत्यधिक जोर लगाने की वजह से रेक्टम एरिया पर प्रेशर पड़ता है जिसकी वजह से वहां की विंग्स में सूजन आ जाती है जोकि मस्से का रूप ले लेता है जिसे हम बवासीर की परेशानी कहते हैं मस्से गुदाद्वार के अंदर भी हो सकते हैं और बाहर भी हो सकते हैं,

बवासीर तीन प्रकार की होती है

1. खूनी बवासीर और दूसरी बादी बवासीर खूनी बवासीर में मल त्याग के वक्त या मल त्यागने से पहले या बाद में रोगी को खून गिरता है और बादी बवासीर मैं रोगी के गुदाद्वार में मस्से होने की वजह से मल त्यागने का रास्ता छोटा हो जाता है जिसकी वजह से मल त्याग के वक्त रोगी को दर्द खुजली और जलन जैसी समस्याएं होती है, अब अगर इसका समय रहते इलाज नहीं करवाया जाए नहीं किया जाए तो रक्तस्राव होने के कारण से रोगी के अंदर बहुत ज्यादा कमजोरी आ सकती है खून की कमी हो सकती है और अगर समय रहते बवासीर को ठीक नहीं किया गया तो यह एक भयानक रोग में बदल सकती है जिसे हम भगंदर कहते हैं

और अगर वह बीमारी काबू नहीं आ सकी तो फिर यह और भी भयानक रूप ले लेती है कभी-कभी बवासीर बिगड़ने की वजह से रेक्टम कैंसर तक हो जाता है जिसकी वजह से रोगी की जान भी जा सकती है और समय पर इलाज न करवाने की वजह से फिर रोगी को ऑपरेशन ही करवाने पड़ते हैं जो कि एक स्थाई इलाज नहीं है ऑपरेशन करवाने के बाद में भी फिर यह रोग फिर से हो सकता है इसीलिए इस रोग को प्रथम स्टेज में ही यह समय रहते ही ठीक कर लेना ही बेहतर है क्या कारण है बवासीर हो जाने के ज्यादा कब्जियत होने की वजह से मल त्याग दे वक्त मलद्वार के अंदर का भाग डैमेज हो जाता है जिसकी वजह से मस्से बन जाते हैं,

2. यह बीमारी अनुवांशिक मतलब जेनेटिक भी हो सकती है अगर किसी के माता-पिता को है तो बच्चों को भी हो जाती है

3. बढ़ती उम्र के कारण से भी हो सकती हैं इस उम्र में मेटाबॉलिज्म प्रोसेस थोड़ा स्लो वर्क करता है धीमा वर्क करता है काम करता है धीमा काम करता है जिसकी वजह से कब्ज बन जाती है और बवासीर हो जाती है

तो आसान शब्दों में लंबे समय तक कब्ज बने रहने के कारण से या शरीर में पानी की कमी होने के कारण से या ज्यादा देर तक बैठे रहने के कारण से यह ज्यादा चिंता करने की वजह से भी बवासीर हो जाती है

इन्हीं परेशानियों को ध्यान में रखकर और बवासीर की परेशानियों से जूझते हुए लोगों के दुख को समझते हुए हमारी संस्था परिवर्तन आयुर्वेद में जो दवाई दी जाती है उसका काम होता है आपके कब्ज को ठीक करना पेट के अंदर के इंफेक्शन को ठीक करना गुदाद्वार में उभरे हुए मस्सों को सुखाना और रक्त स्राव को रोकना जिससे बीमारी आपकी जड़ से खत्म होगी आंतों के अंदर की गंदगी पेट से बाहर होगी पेट ठीक होगा और आपकी बवासीर को जड़ से खत्म करेगी

Piles

This medicine helps in curing both the causes of bleeding during your bowel movements (or pain in the anus) and helps in drying the moles by correcting the infection to eliminate the cause. It helps that the warts will slowly start drying up, blood delivery will stop, it will clear the dry stool stored in your intestines, will cure constipation completely, which will cause the stomach The right to be cleaned, and put an end to your piles at the root will fit you perfectly.

What is Piles

Piles which we also call piles, is swollen inside or around the piles of the anus, when a person has constipation for a long time or constipation is not treated, such a person has constipation due to constipation Due to excessive pressure at the time, there is pressure on the rectum area, due to which there is swelling in the wings which takes the form of wart which we have trouble of piles. Says warts can be inside the anus and can be out,

There are three types of piles

1. Bloody piles and second piles bloody piles at the time of bowel movement or before or after bowel movement, and the patient suffers from bowel movements due to warts in posterior piles. The path becomes shorter due to which the patient has problems like pain, itching and burning during bowel movements,

Now, if it is not treated in time, due to bleeding, there may be a lot of weakness inside the patient, there may be a lack of blood and if the piles are not cured in time, then it turns into a terrible disease. May be what we call Bhagandar and if that disease cannot be controlled, then it takes an even more terrible form, sometimes due to worsening of piles, rectum becomes cancerous due to which The patient's life can also be lost and due to not being treated in time, the patient has to undergo an operation again, which is not a permanent treatment, but after the operation, this disease can occur again, so this disease is first It is better to fix this at the stage itself.

What is the reason that due to excessive constipation due to piles, the part inside the anus becomes damaged while bowel movement, due to which warts are formed.

2. This disease can also be genetic means if one has parents, then children also have it.

3. Metabolism process can also be caused by increasing age, at this age the process works a little slow, works slow, works slow works, due to which constipation becomes and piles. So in simple words, due to prolonged constipation or due to lack of water in the body, or due to sitting for long time, it also causes piles due to over worrying. Keeping these problems in mind and understanding the sorrow of people struggling with piles problems, the medicine given in our organization Parivartan Ayurveda is working to cure your constipation, to cure the infection inside the abdomen that has emerged in the anus.

Drying the warts and stopping the bleeding, which will eliminate the disease from your root, the dirt inside the intestines will be out of the stomach and the stomach will be fine and your Piles will eliminate the root.

Our Products


top